Tuesday, February 7, 2023

सरोगेसी क्या है और कितनी सफल है | Surrogacy Meaning in Hindi

Must Read

What is Surrogacy Hindi its Process, Types, Cost, Egg Donor, Surrogates and More

Surrogacy meaning in Hindi: आपने किराये की कोंख के बारे में सुना होगा और कई Movies में इस बारे में दिखाया जाता है! जब एक दंपत्ति को किसी बीमारी या अन्य कारण से बच्चा नहीं होता तो वह अपने लिए संतान उत्पत्ति के लिए किराये की कोख लेते है! और उसके एवज में उस महिला जिसे Surrogate Mother कहा जाता है धन का भुगतान किया जाता है!

आज हम इस लेख के माध्यम से Surrogate mother meaning in Hindi, Surrogacy in Hindi, सरोगेसी क्या होती है? सरोगेसी पर भारत में  और विश्व में कितना खर्च आता है? तथा क्या इंडिया में इसे कानूनी रूप से मान्यता दी जाती है, आदि के बारे में विस्तार से जानेंगे तो दोस्तों आप आखिर तक इस आर्टिकल में हमरे साथ बने रहे हम आपको सरोगेसी के बारे में बहुत ही ज्ञान वर्धक और रोचक जानकारी देने वाले है!

 सरोगेसी क्या है What is Surrogacy Hindi

दुनिया में सभी लोग अपना परिवार बढाने के लिए एक संतान चाहते है लेकिन सभी को इसका सौभाग्य नहीं मिलता! आइये जानते है Surrogacy Information in Hindi  के माध्यम से आज हम एक ऐसी चिकित्सीय प्रणाली के बारे में जानेंगे,जोकि आज के आधुनिक युग में उन महिलाओ के लिए वरदान साबित हो रही है और उनसभी दम्पत्तियों के चेहरे पर मुश्कान लाने का काम कर रही है जो किसी कारणवश संतान उत्पन्न करने में असमर्थ है!

surrogacy kya hai, सरोगेसी एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके माध्यम से कोई दंपत्ति या अकेला व्यक्ति जो अपने लिए बच्चा चाहता है परन्तु किसी वजह से जैसे किसी वजह से दंपत्ति को बच्चा नहीं हो रहा है, या बच्चा पैदा होने की दसा में स्त्री की जान जा सकती है, महिला को कोई ऐसी बीमारी जिसकी वजह से वह अपना बच्चा पैदा करने में असमर्थ है!

आज कल तो कई महिलाये बच्चा पैदा ही नहीं करना चाहती, तो ऐसी परिस्थिति में लोग Surrogacy की तरफ भागते है और इसके लिए किसी दूसरे महिला की कोंख को अपना बच्चा पैदा करने के लिए उधार अथवा  किराये पर लिया जाता है इस प्रक्रिया को ही सरोगेसी कहा जाता है!

Surrogacy Definition in Hindi

अगर सरोगेसी की परिभाषा के बारे में बात करे तो “ सरोगेसी उस दंपत्ति के लिए संतान प्राप्ति का का सबसे अच्छा विकल्प है, जो किसी कारण संतान उत्पन्न नहीं कर सकते या करना नहीं चाहते. इसमें किसी दूसरी महिला की कोंख को किराये पर लेकर बच्चा पैदा करने की क्रिया सरोगेसी कहलाती है!”

Surrogate Mother किसे कहते है?

जब कोई महिला किसी दुसरे कपल के लिए अपने गर्भ में बच्चे को पालती है और उसे जन्म देती है! तो वह महिला सरोगेट मदर कहलाती है! और जो माता पिता जन्म के बाद बच्चे को अपने साथ ले जाते है उन्हें Intended Parents कहा जाता हैl

सरोगेसी क्यों करायी जाती है?

सरोगेसी एक वैज्ञानिक और चिकित्सकीय पद्दधि है जिसके इस्तेमाल निः संतान दंपत्ति को संतान प्राप्ति करने के लिए किया जाता है! इस प्रणाली के द्वारा जो महिलाये माँ बनने का सुख प्राप्त नहीं कर सकती, उनके जीवन में संतान को किसी दूसरी महिला के गर्भासय के माध्यम से बच्चे का जन्म कराकर माँ बनने का सौभाग्य मिलता हैl

अगर कोई महिला माँ नहीं बन पा रही है किसी बीमारी के कारण महिला के गर्भ नहीं ठहर रहा हो या गर्भपात की समस्या आ रही हो!

कभी-कभी किसी महिला के जनजात ही गर्भासय नहीं होता या कोई टीबी, या एड्स जैसी घातक बीमारी के कारण भी संतान उत्पत्ति में समस्या हो सकती है, तो इन सभी कारणों के लिए लोग जो इसका खर्चा उठा पाने में सक्षम है सरोगेसी की तरफ रुख करते है!

सरोगेसी की प्रक्रिया क्या है? Surrogacy Process

सरोगेसी की प्रक्रिया में वह सभी निः संतान कपल जो किसी कारणवश संतान उत्पन्न कर पाने में अक्षम होती है वह इस तकनीकी का उपयोग कर सकते हैइसके लिए जिन Hospitals में इसकी सुविधा होती है वहा के डाक्टर्स की सलाह के उपरांत ही इसका इस्तेमाल कर सकते है!

इसमें एक इसी महिला को चुना जाता है जो मानसिक और शरीरिक रूप से पूर्णतयः स्वस्थ्य होl इस प्रक्रिया के तहत महिला पुरुष के स्पर्म को 9 माह तक अपने गर्भ में रखती है और जब बच्चे का हो जाता है तो एग्रीमेंट के तहत वह बच्चा दंपत्ति को सौप दिया जाता है तथा जिस महिला को इसके लिए लाया गया था उसे तय की गई धनराशी दी जाती है!

सरोगेसी के प्रकार Types of Surrogacy in Hindi

सरोगेसी दो प्रकार की होती है

1- ट्रेडिशनल सरोगेसी,

2- जेस्टेशनल सरोगेसी

ट्रेडिशनल सरोगेसी (Traditional Surrogacy)

इस सरोगेसी प्रक्रिया के तहत दंपत्ति में पिता के शुक्राणुओं को किसी अन्य महिला अंडाणुओं के साथ निषेचित करके करके गर्भ धारण कराया जाता है, क्योंकि इसमे महिला के गर्भ धारण के सम्भावना नहीं होती है और इसमें जेनेटिक सम्बन्ध केवल पिता से ही होता है।

जेस्टेशनल सरोगेसी (Gestational Surrogacy)

इसमें दंपत्ति के यानी माता-पिता के अंडाणुओं और स्पर्म को परखनली में निषेचित करवाकर निर्मित भ्रूण को सरोगेट माता के बच्चेदानी में परखनली के द्वारा स्थानांतरित कर दिया जाता है। इस विधि में जैनेटिक सम्बन्ध माता और पिता दोनों का होता हैl

सरोगेसी का खर्च (Surrogacy Cost)

Surrogacy Cost की बात करें तो इस प्रक्रिया में काफी खर्चा आत है, महँगी होने के कारण आम आदमी इसका लाभ नहीं ले सकता है!

Surrogacy Cost in India की बात करें तो अन्य देशो के मुकाबले यह बहुत सस्ता पड़ता है, जहा विदेशों में सरोगेसी का खर्च 40 लाख के आसपास आता है वही इंडिया में 15 से 20 लाख रूपये तक इसमें खर्च होते हैl

 सरोगेसी (विनियमन) विधेयक 2019 क्या है? Surrogacy Regulation Bill

एक अनुमान के मुताबिक दुनिया में वर्ष भर में लगभग  500 केस होते है इनमे से 400 अकेले भारत में पाए जाते है इसका प्रमुख कारण भारत में इसका खर्च कम आता है!

इसको लेकर कोई कोई ठोस कानून नहीं था जिस वजह से काफी विवाद भी हुए और होते रहते है सिकी गंभीरता हो देखते हुए सबसे पहले सरोगेसी रेगुलेशन बिल 2016 में लाया गया था, और सुप्रीम कोर्ट ने सन 2008 में एक फैसले के तहत सरोगेसी को कानूनी मान्यता प्रदान की!

वर्ष 2016 में पहली बार सरोगेसी के लिए नियमों के निर्धारण हेतु लोकसभा में बिल लाया गया, लेकिन कुछ कमियों को देखते हुए 5 अगस्त सन 2019 [Surrogacy (Regulation) Bill] में इसके नियमो को और सख्त करने हेतु दुबारा बिल को लोकसभा में पेश किया गयाl जोकि सभा में पास होकर कानून बन गया!

Surrogacy (Regulation) Bill की अवश्यकत क्यों पड़ी?

सरोगेसी बिल 2019 लाने का प्रमुख कारण इसके कमर्शियल उद्योग पर रोक लगाना था, सरोगेसी के दौरान कई प्रकार के विवाद भी होते रहते थे जैसे कभी-कभी सरोगेट मदर ममतावश माता पिता को संतान देने से मना कर देती थे या दंपत्ति बच्चे के विकलांग,या गंभीर बीमारी से ग्रसित होने के कारण लेने से मना कर देते थे तो विवाद उत्पन्न हो जाता था!

इनके निवारण के लिए अभी तक कोई स्पष्ट कानून न होने के कारण विवादों का निपटान नहीं हो पता था! इसलिए भारत सर्कार सरोगेसी रेगुलेशन बिल लेकर आई!

सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2019 की प्रमुख बाते

  1. निः संतान पति पत्नी जिसमे महिला की उम्र 23 वर्ष से 50 वर्ष बीच और पुरुष की उम्र 26 वर्ष से  55 वर्ष के बीच हो इसका लाभ ले सकते है.
  2. कोई भी सिंगल व्यक्ति, लिव इन में रहने वाले लोग, समलैंगिक जोड़े और ट्रांसजेंडर इसके लिए आवेदन नहीं कर सकते है.
  3. जिनके विवाह को कम से कम 5 वर्ष बीत चुके हो वही इसके लिए योग्य होंगे.
  4. सरोगेट मदर की उम्र 25 से 35 वर्ष होनी आवश्यक है.
  5. सरोगेट मदर के किसी करीबी रिश्तेदार की देखरेख में इसको संपन्न कराया जायेगा इसलिय उसका होना जरूरी है.
  6. इस बिल के कानून के अनुसार कपल किसी भी अवस्था में बच्चे को छोड़ नहीं सकता.
  7. किसी भी नियम के उल्लंघन पर 10  साल की जेल और 10 लाख रुपये का जुर्माना देना पड़ सकता है.
  8. सरोगेसी के व्यावसायी कारण पर पूर्ण रूप से प्रतिबन्ध है.
  9. कोई भी महिला पैसो के लालच में सरोगेट मदर नहीं बन सकती.
  10. दंपत्ति केवल दवाओं चिकित्सकीय खर्च और खान पान के अलावा किसी भी प्रकार का भुगतान नहीं कर सकता..

यह भी पढ़े >>>

संतुलित आहार क्या जरूरी है 

[जाने] अजवाइन के फायदे | 11 Ajwain Benefits in Hindi

कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट कैसे डाउनलोड करें |

[2021] How Many Countries in The World | विश्व में कुल कितने देश है ?Name, Currency, Population and Demographic Detail

India में सरोगेसी के तहत संतान प्राप्त करने वाले Celebrities के नाम

Surrogacy meaning in Hindi के लेख में अब हम आपको उन फ़िल्मी हस्तियों से अवगत करने वाले है जिन्होंने सरोगेसी के माध्यम से संतान को प्राप्त किया है-

सनी लियोनि

 2017 में सनी लिओनी और उनके husband डेनियल सरोगेसी से दो जुड़वाँ बच्चो माता-पिता बने थे और दोनों जुड़वाँ लड़के है जिसमे एक का नाम है ‘अशर सिंह, और दुसरे का नाम ‘नोह सिंह वेबर’ है

करण जौहर

 सरोगेसी के माध्यम से करण जौहर भी जुड़वाँ बच्चों के पिता बन चुके है इसके लिए 2018 में इन्होने सरोगेसी का सहारा लिया था! करण जौहर के बच्चों के नाम है ‘रूही, और यश’l

आमिर खान

अपनी दूसरी सादी किरण सेकरने के पश्चात् आमिर खान और किरन ने अपना पहला बच्चा सरोगेसी के माध्यम से प्राप्त किया जिसकानाम ‘आजाद’ रखा गया है!

आमिर की पहली पत्नी रीना दत्त से दो बच्चे ‘जुनैद और इरा’ भी है!

शाहरुख़ खान

गौरी खान और बादशाह खान ने भी सरोगेसी के माध्यम से 27 मई 2013 अपने सबसे छोटे बेटे अब्राहम के माता पिता बने!

इसके आलावा शाहरुख़ खान के आर्यन खान, और सुहाना खान दो संताने और भी है!

तुषार कपूर

जून सन 2016 में तुषार सरोगेसी से पिता बने थे, जबकि तुषार कपूर का विवाह नहीं हुआ है! सिंगल पैरेंट के रूप में तुषार एक लड़के के पिता बने और अपने बेटे का नाम ‘लक्ष्य’ रखा हैl

सुहेल खान

सुहेल खान जोकि सलमान खान के भाई है ने अपने पत्नी सीमा के साथ एक बेटे ‘योहन’ के पेरेंट्स बने है योहन का जन्म जून 2011 में हुआ था!

कृष्णा अभिषेक

कपिल शो और अन्य कई कॉमेडी शो के माध्यम से अपनी पहचान बनाने वाले फिल्म स्टार गोविन्दा का भांजा कृष्णा अपनी पत्नी कश्मीरा शाह के साथ जुड़वाँ बच्चों के माता पिता बन चुके है!

 एकता कपूर

जितेन्द्र की बेटी और तुषार कपूर की बहन एकता कपूर ने भीं 27 जनवरी 2019 को सिंगल मदर के रूप में एक लड़के की माँ बनी थी! उन्होंने इसका जन्म सरोगेसी के माध्यम से दिया था! एकता कपूर अभी तक अविवाहित है!

यह भी पढ़े <<<>>> संतुलित आहार और प्रकार – प्रतिदिन भोजन में आवश्यक पोषक तत्व

ICU (आई सी यू) का Full Form – Medical ICU की फुल जानकारी

डिस्क्लेमर:- तो दोस्तों आपको Surrogacy meaning in Hindi लेख कैसा लगा हमें कमेन्ट जरूर करेl हमें उम्मीद है आपको यह लेख जरूर पसंद आया होगा, अगर इस प्रकार के या अन्य किसी विषय पर जानकारी चाहते है तो कमेन्ट करके बता सकते हैl हमारा यह आर्टिकल केवल आपको Surrogacy के बारे में सही जानकारी उपलब्ध करने हेतु है अगर आप इस विषय पर विस्तृत जानकारी और इसके तकनिकी के विषय में अधिक जानना चाहते है तो अपने Gynecologist से संपर्क कर सकते हैl धन्यवाद

- Advertisement -spot_img

4 COMMENTS

Leave a Reply

- Advertisement -spot_img
Latest News

ट्रांसजेंडर क्या होता है? Trangender Meaning in Hindi | ट्रांसजेंडर और किन्नर में अंतर

ट्रांसजेंडर क्या होता है? Transgender in Hindi, ट्रांसजेंडर और किन्नर में मूल अंतर क्या है? आदि के बारे में...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img
x
%d bloggers like this: